homeopathy hub

Homeopathy Remedies for Craving

Homeopathy Remedies for Cravings

Homeopathy Remedies for alcohol Craving

Homeopathy Remedies for tobacco Craving

Homeopathy Remedies for Chalk Craving

 

मिट्टी, कोयला, राख आदि खाने की इच्छा
टैरेण्टुला हिस्पानिया – गर्भावस्था में राख अथवा रेत खाने की इच्छा होने पर इसे दें ।
नाइट्रिक एसिड 6 – चाक, मिट्टी अथवा चूना खाने की इच्छा में इसका प्रयोग कर।
एलूमिना 6, 30 – कोयला, चाक, कॉफी, चाय, अचार, चटनी तथा अपच पदार्थ खाने की इच्छा में यह लाभकर है ।
साइक्यूटा 6, 30, 200 – बच्चे द्वारा मुँह में कोयला डालकर चबाने की इच्छा में यह लाभकर है ।


तम्बाकू खाने अथवा पीने की इच्छा 

Best Homeopathy Remedies for Craving of Tobacco


कैलेडियम 3, 6 – यह तम्बाकू खाने की इच्छा को दूर करने में हितकर है।
टैबेकम 200, 1M – यह औषध सिगरेट पीने की इच्छा को दूर करती है ।
चायना 3, 30 – धूम्रपान की इच्छा को नष्ट करने में यह लाभकर है ।
नक्स-वोमिका 3x – तम्बाकू खाने की उत्कट इच्छा को शान्त करने के लिये इसे प्रति तीन घण्टे बाद देते रहें ।
कैम्फर – यदि तम्बाकू खाने की जबरदस्त इच्छा हो तो कपूर की छोटी-छोटी गोलियाँ चबा लेने से वह शान्त हो जाती है ।
आर्सेनिक 30 – तम्बाकू खाने अथवा पीने की इच्छा आदत को दूर करने में भी यह हितकर है ।
स्ट्रोफेंथस 6x – यह तम्बाकू पीने की इक्छा दूर करती है तथा तम्बाकू पीने वालों के अशान्त-हृदय को शान्त करती है ।

<


अफीम खाने की इच्छा
ऐबाइना सैटाइवा Q – अफीम अथवा हशीश खाने की इच्छा को शान्त करने के लिए इस औषध की पाँच-दस बँदें दो-तीन बार (आधा-आधा घण्टे बाद) देने से अभीष्ट-सिद्धि होती हैं तथा अफीम खाने की आदत छूट जाती है। इस औषध को बीस ग्राम पानी में डालकर सेवन करना चाहिए ।
कैमोमिला 30 – यदि अफीम छोड़ने के कारण चिड़चिड़ाहट, क्रोध अथवा असहिष्णुता के लक्षण प्रकट हों तो इस औषध का सेवन करना चाहिए ।


शराब पीने की इच्छा
सल्फ्यूरिक एसिड Q – इस औषध के मूल-अर्क की दो-तीन बूंदें आधा गिलास पानी में डालकर, उसे दो-तीन घण्टे के अन्तर से, चाय के एक छोटे चम्मच की मात्रा में, तब तक पीने को देते रहना चाहिए, जब तक कि मन में शराब के प्रति अरुचि उत्पन्न न हो जाय । इस औषध के प्रयोग से मुँह में छाले पड़ सकते हैं तथा दस्त आने की शिकायत भी हो सकती है। दस्त आने पर ‘पल्सेटिला 30’ देने से दस्त बन्द हो जाते हैं। छाले हो जाने पर जब तक वह दूर न हो जायें, तब तक के लिए इसे देना बन्द कर देना चाहिए तथा आवश्यकतानुसार प्रयोग से शराब पीने की उत्कट इच्छा नष्ट हो जाती है ।
क्युएरकस-ग्लैण्ड Q, 3x –  इस औषध के मूल अर्क Q की दस बूंदें, एक छोटे चाय के चम्मच भर गरम पानी में डालकर दिन में तीन-चार बार लेते रहने से शराब के प्रति अरुचि उत्पन्न हो जाती है । इस औषध के सेवन से प्राय: दस्त आने लगते हैं, परन्तु उनसे घबराना नहीं चाहिए तथा कई महीनों तक इसी औषध का सेवन करते रहना चाहिए ।
सल्फर 3, 30, 200 – यह औषध भी शराब के प्रति अरुचि उत्पन्न करने वाली है । प्रात:-सायं शराब पीने की इच्छा बनी रहने पर इसका प्रयोग करना चाहिए।
फास्फोरस 30 – शराब पीने की इच्छा के कारण पेट में रहने वाली असाधारण बेचैनी को यह औषध शान्त कर देती है ।
प्लम्बम 3, 200 – किसी रोग से ग्रस्त रहने पर शराब पीने की उत्कट इच्छा का बने रहना और रोग के हट जाने पर मद्यपान की इच्छा का भी शान्त हो जाना-ऐसे लक्षणों में इसका प्रयोग करें ।
चायना Q, ऐवेना Q अथवा स्ट्रोफैन्थस Q – शराब पीने वाले के द्वारा शराब छोड़ देने के बाद फिर कभी अचानक ही मन में शराब पीने की तीव्र इच्छा उत्पन्न हो तो उसे दबाने के लिए इनमें से किसी भी एक औषध को दिन में तीन बार प्रति मात्रा पाँच बूंद के हिसाब से देना हितकर रहता है। इसके बाद नक्स-वोमिका 1x, 3 अथवा सल्फर देना उचित रहता है ।

Comments

  • Reply: