homeopathy hub

What is Homeopathy

होमियोपैथी क्या है ?

जैसे कोई औषधि खा लेने पर उसके प्रभाव शरीर में प्रकट होने लगते है लेकिन अगर पहले से उसके प्रभाव शरीर मे हो और फिर इस औषधि की थोड़ी मात्रा देने से लक्षण ठीक होते हो तो इसी सिद्धांत पर होमियोपैथी काम करती है |जैसे हमारे देश में एक कहावत हज़ारो सालो से है कि "लोहे को लोहा ही काटेगा या जहर को जहर से ही काट सकते है "|

उदाहरण के लिए अगर किसी स्वस्थ ओयक्ति को आर्सेनिक या संखिया दे दिया जाये तो उसे प्यास लगने के साथ दस्त भी लगने लगेंगे लेकिन अगर पहले से ये लक्षण हो तो आर्सेनिक कि हलकी मात्रा देने से लक्षण ठीक हो जायेंगे क्योंकि लोहा लोहे को काटता है लेकिन मात्रा सूक्ष्म होनी चाहिए | आयुर्वेद में सूक्ष्म औषधि का प्रयोग इसी सिद्धांत पर हज़ारो साल से हुआ है लेकिन अलोपथी के आने के बाद इसे भुला दिया गया बाद में चल कर ये ही होमियोपैथी में आ गया है |

जर्मनी के एक महान डाक्टर Hahnemann ने एक अपना सिद्धांत बनाया जो इस तरह है "similia similibus curentur " आज इसी को हम होमियोपैथी का सिद्धांत कहते है |

होमियोपैथी में उपचार - आधुनिक होमियोपैथी में आज दो तरीके से इलाज हो

रहा है ।

Repertory -  इसमे लक्षणों के आधार पर किसी एक या दो दवाई का चयन कर के दिया जाता है ।

Therapeutic - एलोपैथी के आने के बाद आज के समय मे हर मरीज़ जल्दी समाधान चाहता है इसी कारण कुछ होमियोपैथी के डॉक्टर लक्षणो को देख जार कई सारी दवाओं का चयन कर के एक दवाई बना रहे है और इसके साथ constitutional दवाई भी चलाते है ।ये थेरैपी काम भी कर रही है और इसने होमियोपैथी को नई ऊँचाइयों तक पहुंचा दिया है ।आज इस प्रकार की दवा बनाने वाली सैकड़ो कम्पनी है और हज़ारो करोड़ का व्यवसाय कर रही है ।

Comments

  • Reply: